वाराणसी। जैतपुरा थाना क्षेत्र में अधिवक्ता जमाल अख्तर के ऊपर हमला करने वालों के खिलाफ पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने को लेकर वकीलों ने शुक्रवार को सड़क जाम कर प्रदर्शन किये। बाद में एसपी सिटी द्वारा दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन मिलने पर वकीलों ने विरोध प्रदर्शन समाप्त कर दिया। इससे पहले बनारस बार एसोसिएशन के महामंत्री रजनीश कुमार मिश्र के नेतृत्व में अधिवक्ताओं ने शुक्रवार को एसएसपी से मुलाकात की और पूरे मामले की उन्हे जानकारी दी। अधिवक्ताओं ने दोषियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने की मांग की। बाद में एसएसपी की बातों से संतुष्ट न होकर अधिवक्ताओं ने बनारस बार एसोसिएशन भवन के सामने सड़क को जाम कर विरोध प्रदर्शन करने लगे।

किरायेदारी विवाद को लेकर थी मारपीट

प्रदर्शनकारियों के मुताबिक जमाल अख्तर के ख्वाजापुरा (जैतपुरा) स्थित मकान से किराएदारों को बेदखल करने का अदालत ने आदेश दिया था। इस आदेश का अनुपालन कराने के लिए गुरुवार को जमाल अख्तर के साथ अमीन और पुलिस मौके पर पहुंची थी। वहां किराएदारों ने विरोध करते हुए अधिवक्ता और पुलिस पर हमला कर दिया। विरोध के चलते अमीन और पुलिस वापस लौट आई। जमाल ने सारे घटनाक्रम की इंस्पेक्टर जैतपुरा को जानकारी देते हुए मंडलीय अस्पताल में अपना मेडिकल परीक्षण कराया। अधिवक्ता का आरोप है कि इंस्पेक्टर ने पहले तो दोषियों के खिलाफ मुकदमा लिखने का आश्वासन दिया लेकिन बाद में मना कर दिया। वकीलों के प्रदर्शन और जाम की जानकारी होने पर थोड़ी देर में एसपी सिटी पहुंच गए। अधिवक्ताओं ने उन्हें भी पूरी घटनाक्रम से अवगत कराते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। एसपी सिटी के आश्वासन पर वकीलों ने प्रदर्शन समाप्त कर दिया। प्रदर्शन करने वालों में पूर्व महामंत्री धीरेन्द्रनाथ शर्मा,अजय बरनवाल,मंगला पाठक,दुर्गेश गुप्ता,विनोद शुक्ला,राशिद जमाल सिद्दीकी,अरुण कुमार सिंह ‘झप्पू’,धीरेन्द्र श्रीवास्तव,आनंद शंकर मिश्र, राजीव गोस्वामी,स्मिता यादव,अनूप सिन्हा आदि शामिल रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment